8:16:00 am 0 Comments

उत्तर प्रदेश में कायम है,जंगलराज...!!!
उन्नाव। उत्तर प्रदेश के उन्नाव में 5दिसंबर,2019 को जो कुछ हुआ वह दिल दहला देने वाला रहा। यहां दो दिन पहले जमानत पर छूटे गैंगरेप के 2आरोपियों ने गुरुवार तड़के पीड़ित युवती को जला दिया। पीड़िता एक किलोमीटर तक मदद के लिए आग की लपटों के बीच दौड़ती रही, फिर एक व्यक्ति ने उसकी मदद की तब जाकर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने युवती को गंभीर हालत में जिला अस्पताल भेजा, जहां डॉक्टरों ने लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर भेजा। यहां से देर शाम एअर एंबुलेस से इलाज के लिए उसे दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल ले जाया गया। 
इस घटना को लेकर एक बार फिर पूरे देश में गुस्सा दिख रहा है। पीड़ित को पांच आरोपियों ने आग लगाई। हलांकि पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें शिवम त्रिवेदी, उसके पिता रामकिशोर, शुभम त्रिवेदी, हरिशंकर और उमेश बाजपेयी शामिल हैं। पुलिस के मुताबिक, घटना उन्नाव जिले के बिहार थाना क्षेत्र के हिंदूनगर की है। पीड़ित गैंगरेप मामले की सुनवाई के लिए रायबरेली कोर्ट जा रही थी। वह ट्रेन पकड़ने के लिए जा रही थी, तभी रास्ते में पहले से बैठे दोनों मुख्य आरोपी शुभम और शिवम त्रिवेदी और उनके तीन साथियों ने युवती को घेरा। इसके बाद उस पर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी। एसपी विक्रांत वीर ने बताया कि पीड़ित की हालत गंभीर है। वह 90% जल चुकी है। युवती ने बयान में आरोपियों के नाम बताए हैं। पुलिस ने बताया कि शुभम और शिवम गैंगरेप मामले में दो दिन पहले ही जेल से जमानत पर रिहा हुए थे। रायबरेली कोर्ट के आदेश पर रेप का केस दर्ज किया गया था।
मुख्यमंत्री ने कहा- पीड़ित को चिकित्सा सुविधा मिलेगी...!!!
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लिया। उन्होंने आश्वासन दिया कि पीड़ित को सरकारी खर्च पर हरसंभव चिकित्सा सुविधा दी जाएगी। प्रदेश सरकार मामले की पैरवी कर शीघ्र न्याय दिलवाएगी। योगी ने इस मामले में कमिश्नर और डीआईजी से आज शाम तक पूरी रिपोर्ट मांगी है।
दिसंबर 2018में गैंगरेप,4महीने बाद केस हुआ था,दर्ज...!!! 
मार्च में युवती ने गैंगरेप की एफआईआर दर्ज कराई थी। युवती ने बताया था कि गांव के रहने वाले शिवम त्रिवेदी से उसका प्रेम संबंध था। शिवम ने उसका रायबरेली ले जाकर रेप किया और वीडियो बना लिया। इसके बाद लगातार रेप करता रहा। शादी का दबाव बनाया तो रायबरेली ले जाकर एक कमरे में रख दिया। यहां नजरबंद कर दिया। इसके बाद 12 दिसंबर 2018 को आरोपी शिवम अपने साथी शुभम त्रिवेदी के साथ आया। दोनों मंदिर में शादी कराने के बहाने ले गए और गैंगरेप किया। बिहार पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर आरोपी शिवम त्रिवेदी और शुभम त्रिवेदी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

rameshrajdar

एक खोजी पत्रकार की सत्य खबरें जिन्हे पूरा पढ़े बिना आप रह ही नहीं सकते हैं ,इस खबर को पढ़ने के लिए............| Google || Facebook

0 टिप्पणियाँ: