इसका कारण क्या है

5:29:00 pm 0 Comments

आज़म ख़ान ने रमादेवी के ख़िलाफ़ अश्लील भद्दी अपमानजनक बयानबाजी पहली बार नहीं की। उसने सबसे पहले भारत माता को गाली दी थी। फिर उमाभारती, जयाप्रदा मायावती तक अनेक ऐसे प्रकरण हैं जो यह बताते हैं कि आज़म खान का मुंह लम्बे समय से महिलाओं के ख़िलाफ़ किसी गटर की तरह गंदगी उगलता रहा है। अमरसिंह की पत्नी और उनकी नाबालिग किशोर दोनों बेटियों को तेज़ाब से नहला कर जिंदा जला डालने का एलान खुलेआम करता रहा है।लेकिन क्या कारण है कि पिछले 25-30 वर्षों से आज़म ख़ान ने जिन महिलाओं के ख़िलाफ़ ज़हर भरी गंदगी उगली है उन महिलाओं में एक भी नाम किसी मुसलमान महिला का नहीं है। यहां तक कि रामपुर की बेगम नूरबानो, जो इस आज़म खान की सबसे बड़ी राजनीतिक विरोधी रही हैं। लेकिन आज़म खान ने उनके ख़िलाफ़ भी कभी कोई अश्लील अभद्र टिप्पणी नहीं की। जबकि भारत माता से लेकर सांसद रमाबाई तक, उन महिलाओं के नाम की सूची बहुत लम्बी है जो हिन्दू हैं और जिनके खिलाफ आज़म ख़ान अपने मुंह से गटर की तरह गंदगी उंडेलता चला आया है। सेक्युलरिज्म का सीवर टैंक अपनी खोपड़ी पर लादे घूम रहे वैचारिक लफंगे, विशेषकर वो उनचासिया (49) लफंगे जिन्होंने कल प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखी थी। वो सभी वैचारिक लफंगे आज़म खान के दिमाग में किसी सीवर की गंदगी की तरह बह रही इस भयंकर बदबूदार कम्युनल गंदगी के ख़िलाफ़ प्रधानमंत्री को चिट्ठी कब लिखेंगे।

rameshrajdar

एक खोजी पत्रकार की सत्य खबरें जिन्हे पूरा पढ़े बिना आप रह ही नहीं सकते हैं ,इस खबर को पढ़ने के लिए............| Google || Facebook

0 टिप्पणियाँ: