सभापति यादव विना लड़ें ही बसपा के टिकट से बन गए पट्टी विधायक....!!!

!!!....सभापति यादव विना लड़ें ही बसपा के टिकट से बन गए पट्टी विधायक....!!!
लीजिए भाई एक क्षेत्रीय नेता ने तो हद ही कर दिया...!!! ये महानुभाव है सभापति यादव हैं, जो कभी सपा से अपनी नजदीकियां बताते हैं तो कभी बसपा से.....!!! इनकी पत्नी श्रीमती माधुरी यादव आसपुरदेवसरा के ब्लाक प्रमुख पद पर चुनाव लड़ी थी और विजयी भी हुई....!!! आसपुरदेवसरा के ब्लाक प्रमुख चुनाव से चर्चा में आये सभापति यादव ने फेसबुक पर स्वयं को पट्टी का स्वयंभू विधायक भी घोषित कर लिया है....!!!
सभापति यादव द्वारा पट्टी विधानसभा 2017 के चुनाव में अपने को विना चुनाव लड़े ही पट्टी का विधायक सोशल मीडिया में घोषित कर लेना क्षेत्र में चर्चा का विषय है....!!! जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव में सभापति यादव की नजदीकियां बसपा में हुई थी, परन्तु आसपुरदेवसरा के ब्लाक प्रमुख चुनाव में पूर्व मंत्री राजाराम पाण्डेय जी के भतीजे देवेन्द्र पाण्डेय जो आसपुरदेवसरा के प्रमुख पद पर रह चुके थे, उनकी पत्नी को सुशीला पाण्डेय को सपा ने अपना उम्मीदवार बनाया था, जिसे बाद में बदलकर श्रीमती माधुरी यादव पत्नी सभापति यादव को प्रमुख पद का उम्मीदवार घोषित किया गया ....!!!
अभी चर्चा थी कि सभापति यादव समाजवादी पार्टी से पट्टी विधानसभा से प्रत्याशी होना चाहते थे और आज अचानक फेसबुक पर बसपा से पट्टी विधानसभा की उम्मीदवार ही नहीं बल्कि स्वयं को स्वयंभू विधायक भी घोषित कर डाला....!!! जबकि बसपा ने अपना टिकट कुंवर शक्ति सिंह को दिया है....!!! समाजवादी पार्टी द्वारा जारी उम्मीदवारों की अधिकृत प्रथम सूची में सिर्फ जिले से एक नाम विश्वनाथगंज से पूर्व मंत्री स्व.राजाराम पाण्डेय के पुत्र श्री संजय पाण्डेय का रहा । बाकी कुंडा व बिहार विधानसभा से सपा और राजा भईया के समर्थन में चुनाव लड़ाने की परम्परा बनी हुई है....!!!
कांग्रेस के नेता श्री प्रमोद तिवारी को सपा कोटे से राज्य सभा भेजे जाने के बाद उप चुनाव में सपा ने रामपुर ख़ास से कांग्रेस के नेता श्री प्रमोद तिवारी की पुत्री श्रीमती अराधना मिश्रा "मोना" के लिए अपना समर्थन देते हुए वहां से कोई उम्मीदवार नहीं दिया....!!! अभी ब्लॉक प्रमुख चुनाव में कांग्रेस के नेता श्री प्रमोद तिवारी के विधानसभा क्षेत्र की तीनों ब्लॉकों पर उम्मीदवार न देना ये दर्शाता है कि आगामी विधानसभा 2017 में जिले की कुल तीन सीट पर सपा अपना उम्मीदवार न उतारे और 3 स्थानों पर उसके विधायक हैं....!!! सदर से श्री नागेन्द्र सिंह "मुन्ना" यादव, रानीगंज से श्री शिवाकान्त यादव और पट्टी से श्री राम सिंह पटेल हैं....!!!
अब ऐसे में माना जा रहा था कि सीटिंग विधायकों का टिकट बरकरार रहेगा....!!! सिर्फ अपनी विश्वनाथगंज की सीट जो उपचुनाव में सपा ने गवां दिया उस पर सपा ने अपनी पहली सूची में अपना उम्मीदवार श्री संजय पाण्डेय को बनाया है.....!!! परंतु आसपुरदेवसरा के ब्लाक प्रमुख चुनाव से चर्चा में आये सभापति यादव ने फेसबुक पर स्वयं को पट्टी का स्वयंभू विधायक घोषित कर लेना क्षेत्र में चर्चा का बिषय बना हुआ है....!!! ये सही है कि बसपा की उम्मीदवारी अंत तक बदल जाया करती है....!!! सभापति यादव की फेसबुक पोस्ट से राजनीतिक गलियारे में चर्चारों का बाज़ार गर्म हो गया है...!!! क्षेत्र की जनता आश्चर्यचकित है कि उसके चुने वगैर सभापति यादव पट्टी के विधायक कैसे बन गए....???

rameshrajdar

एक खोजी पत्रकार की सत्य खबरें जिन्हे पूरा पढ़े बिना आप रह ही नहीं सकते हैं ,इस खबर को पढ़ने के लिए............| Google || Facebook

0 टिप्पणियाँ: